what is a stay order स्टे ऑर्डर क्या होता है स्टे कैसे लिया जाता है 1 पूरी जानकारी

 नमस्कार दोस्तों

आज हम बात करने वाले हैं कुछ जमीन से जुड़े विवाद कुछ परिवार आपसे मामले संपत्ति से जुड़े हुए इस प्रकार के कुछ ऐसे मामलों का आज हम विचारण  करने वाले हैं पारिवारिक संपत्ति के बंटवारे में किस प्रकार की समस्याएं आती हैं किसी प्रॉपर्टी संबंधित विवाद मैं भी समस्याओं की अनेक रूप देखने को मिलते हैं हम बात करने वाले हैं

स्टे आर्डर की  यह एक ऑर्डर है जिसके द्वारा किसी भी कार्य की गतिविधि को रोक दिया जाता है जैसे कि लोअर कोर्ट द्वारा कोई फैसला सुनाया गया हो उसके पश्चात हाई कोर्ट द्वारा उस फैसले पर रोक लगा दी गई हो इससे स्टे (stay)ऑर्डर का जाता है

और स्टे जमीनी यह दीवानी विवादों में भी दे जाते हैं जैसे कोई मकान के निर्माण पर मकान के बंटवारे पर जब तक कि मामले का निस्तारण नहीं होता है न्यायालय द्वारा टीआई  पर स्टे (stay) दे दिया जाता है।

स्टे ऑर्डर क्या है 

स्टे ऑर्डर से तात्पर्य है स्टे ऑर्डर  किसी निचली अदालत में चल रहे हैं मुकदमे की गतिविधि पर उच्च न्यायालय द्वारा रोक लगाना स्टे ऑर्डर माना गया है या  या किसी विवादित संपत्ति पर अगर कोई निर्माण कार्य क्या कर रहा है जिसका पंजीकृत स्वामी वह नहीं है फिर भी वह उस संपत्ति पर निर्माण कर रहा है

उसी स्थिति में संपत्ति के स्वामी द्वारा यह संपत्ति के हकदार द्वारा सिविल न्यायालय दवा प्रस्तुत कर सकता है या वाद पत्र प्रस्तुत कर सकता है जिसके अंतर्गत वादी को सिविल न्यायालय द्वारा भवन निर्माण की गतिविधियों पर रोक लगाते हुए या संपत्ति के बेचान पर रोक लगाते हुए

आदेश दे दिया जाता है उसे स्टे ऑर्डर कहते हैं। उच्च न्यायालय द्वारा पुलिस कार्यवाही पर भी दिया जा सकता है जिसमें पुलिस द्वारा  इन्वेस्टिगेशन  की जाती है उस पर भी न्यायालय द्वारा गतिविधियों पर रोक लगा सकता है उसे भी उसे भी स्टे कहा गया है।

section 452 ipc in hindi

section 188 ipc in hindi

स्टे की मियाद पर उच्चतम न्ययालय द्वारा बड़ा फैसला

हाल ही में स्टे (stay) की मियाद  को लेकर कुछ बड़े फैसले भी दिए हैं  उच्चतम न्यायालय ने  निचली अदालतों के अंदर पढ़े पेंडिंग काम को देख कर यह एक बहुत अच्छा आदेश जारी किया गया है जिसके अंदर कहा गया है कि किसी भी अपराधिक यह दीवानी मुकदमे में स्टे आर्डर 6  महीने तक ही वैध रहेगा उसके पश्चात स्टे आर्डर(stay order) स्वत ही खारिज माना जाएगा।

उच्चतम न्यायालय द्वारा यह आदेश हाल ही में जारी किया गया है आदेश दिन से पहले उच्च न्यायालय ने निचली अदालतों में सर्वे किया है जिसके अंतर्गत बहुत से फाइल ऐसी है जिसमें कई वर्षों से स्टे लगा हुआ है या कई वर्षों से उन्हें कोई कार्यवाही नहीं की गई है न्यायालय द्वारा ही स्वतः है स्टे ऑर्डर खारिज मान लिया जायेगा जब तक कि कोई आदेश की वापस प्रतिलिपि ना न्ययालय के समक्ष प्रस्तुत कर दे।

उच्चतम न्यायालय ने ये फैसला इसलिए किया कि हमारे देश मे लाखों की संख्या में मुकदमो में स्टे होने की वजह से फैसला नही हो पाता है और लगातार न्यायालय मे मुकदमे पैंडिंग होते जा रहे है।

यह भी पढे 

उच्चतम न्यायालय ने क्या कहा?

हम आपको बताते है कि किस मामले में उच्चतम न्यायालय ने ये आदेश पारित किया।

जस्टिस एके गोयल, आरएफ नरीमन और जस्टिस नवीन सिन्हा की तीन जजों की पीठ ने यह महत्वपूर्ण फैसला दो जजों की पीठ के रेफरेंस के जवाब में दिया है। उच्चतम न्यायालय की पीठ ने कहा कि उच्च न्यायालय को आरोप तय करने के आदेश पर स्टे लगाने का क्षेत्राधिकार है

लेकिन यह क्षेत्राधिकार दुर्लभ से दुर्लभतम केसों तक ही सीमिति रहना चाहिए। यहां तक कि जब आरोप तय करने के आदेश को चुनौती दी गई हो, तो ऐसी याचिकाओं पर फैसले में देरी नहीं होनी चाहिए।

न्ययालय ने कहा कि जब स्टे (stay) की सूचना मिल जाए तो ट्रायल कोर्ट मामले की तारीख छह माह बाद लगा दे और जैसे ही छह माह की अवधि बीते स्वत: ही ट्रायल को बिना किसी सूचना के शुरू कर दे। क्योंकि  इसे  लेने के बाद कोर्ट को सूचित नहीं किया जाता और स्टे अनिश्चितकाल के लिए चलता रहता है। 

अनिश्चित काल का स्टे नहीं होपीठ ने कहा कि यदि स्टे दिया गया है तो यह बिना शर्त और अनिश्चितकाल के लिए नहीं होना चाहिए। इस मामले में उचित शर्त लगानी चाहिए ताकि जिस पक्ष के लिए स्टे लगाया गया है उसे उसके केस में मेरिट न पाए जाने पर जिम्मेदार ठहराया जा सके। 

मुकदमों को तीव्र गति से निपटाया जा सकेगासर्वोच्च अदालत के इस आदेश से मामलों में रोक  लेकर मामलो को कई वर्षों तक लंबित रखने की प्रवृत्ति पर रोक लगेगी। इससे मुकदमे तीव्र गति निपटाए जा सकेंगे।

ढाई करोड़ मामले लंबित 

देश की निचली अदालतों में ढाई करोड़ से ज्यादा मुकदमे लंबित हैं जिनमें अधिकतर हाईकोर्ट के रोक  आदेशों के बाद ठप पड़े हैं।

संपत्ति विवादो मैं स्टे कैसे लिया जाता है?

संपत्ति विवादों के अंतर्गत किसी व्यक्ति द्वारा एक सिविल न्यायालय के समक्ष वाद पत्र प्रस्तुत करना होता है जिसे दावा भी कहा जा सकता है यह प्रक्रिया अधिवक्ता के माध्यम से होती है इसके अंतर्गत किसी संपत्ति में अगर विवाद हो रहा है

तो कोई भी एक पक्षकार जाकर सिविल न्यायालय के समक्ष वाद पत्र प्रस्तुत करके अस्थाई निषेधाज्ञा के लिए संपत्ति पर रोक लगवा सकता है अस्थाई रूप से न्यायालय द्वारा रोक लगा दी जाती है इस प्रकार संपत्ति पर विक्रय पर आदि पर अस्थाई रूप से स्टे (stay) लिया जा सकता है

यह भी पढे 

वकील केसे बने 

https://sikhindia.in/vakil-kese-bane-advocate-ke-fayde/

मकान के निर्माण पर कैसे ले स्टे

अगर किसी व्यक्ति द्वारा मकान निर्माण यह  बेचान पर ऐसा ही होता है तो अगर कोई विवादित संपत्ति में मकान का निर्माण कर रहा है क्या जिस संपत्ति का कोई बंटवारा नहीं हुआ हो उस संपत्ति पर मकान का निर्माण कर रहा है

जिसमें औरों का भी अधिकार हो जिस व्यक्ति के अधिकार का हनन हो रहा है उस व्यक्ति द्वारा न्यायालय सिविल न्यायाधीश के समक्ष जाकर एक वाद पत्र प्रस्तुत करना होता है

जो कि एक अधिवक्ता के माध्यम से होता है वाद पत्र प्रस्तुत करने वाले को वादी कहा जाता है एवं जिनके खिलाफ वाद प्रस्तुत किया है उनको प्रतिवादी कहा जाता है जिसके अंदर न्यायालय द्वारा वाद पत्र को देखते हुए

दस्तावेजों के आधार पर वादी को अस्थाई निषेधाज्ञा मैं अस्थाई रूप से मकान निर्माण पर रोक लगा दी जाती है इस प्रकार वह आदेश में बेचान पर भी रोक लगाने के आदेश दे सकता है इस प्रकार आप मकान निर्माण भवन निर्माण पर स्टे (stay)ले सकते हैं।

स्टे किसी मामले का निलंबन या किसी मामले के भीतर किसी विशेष कार्यवाही का निलंबन है। एक जज मामले में किसी पक्ष के प्रस्ताव पर रोक लगा सकता है या किसी पक्ष के अनुरोध के बिना, स्थगन जारी कर सकता है। अदालतें उस मामले में रोक लगा देंगी जब किसी पक्ष के अधिकारों को सुरक्षित करना आवश्यक होगा।

ठहरने के दो मुख्य प्रकार हैं: निष्पादन पर रोक और कार्यवाही पर रोक। निष्पादन पर रोक एक मुकदमे के खिलाफ निर्णय के प्रवर्तन को स्थगित कर देती है, जिसने एक मामला खो दिया है, जिसे जजमेंट देनदार कहा जाता है। दूसरे शब्दों में, यदि कोई दीवानी वादी धन की क्षति या किसी अन्य प्रकार की राहत जीतता है, तो वह हर्जाने की वसूली नहीं कर सकता है

या अदालत द्वारा स्टे जारी करने पर राहत प्राप्त नहीं कर सकता है। सिविल प्रक्रिया के संघीय नियमों के नियम 62 के तहत, प्रत्येक नागरिक निर्णय को प्रस्तुत किए जाने के बाद दस दिनों के लिए रोक दिया जाता है।

निष्पादन का अतिरिक्त ठहराव सीमित अवधि के लिए ही रहता है। यह आमतौर पर तब दिया जाता है जब निर्णय देनदार मामले की अपील करता है, लेकिन अदालत किसी भी मामले में निष्पादन पर रोक लगा सकती है जिसमें अदालत को लगता है कि निर्णय देनदार के अधिकारों को सुरक्षित या संरक्षित करने के लिए रोक आवश्यक है।

निष्पादन की अवधि का अर्थ मृत्युदंड के निष्पादन में रुकावट भी हो सकता है। इस तरह के निष्पादन पर रोक सामान्य रूप से तब दी जाती है जब कोई अदालत निंदा किए गए कैदी द्वारा अतिरिक्त अपील की अनुमति देने का निर्णय लेती है। इस तरह के निष्पादन पर रोक अधिकारियों द्वारा दी जा सकती है, जैसे कि गवर्नर या संयुक्त राज्य के राष्ट्रपति, या अपील अदालतों द्वारा।

कार्यवाही पर रोक एक पूरे मामले या एक मामले के भीतर एक विशिष्ट कार्यवाही का ठहराव है। इस प्रकार का स्थगन किसी मामले को तब तक स्थगित करने के लिए जारी किया जाता है जब तक कि कोई पक्ष न्यायालय के आदेश या प्रक्रिया का अनुपालन नहीं करता। उदाहरण के लिए, यदि किसी पक्ष को मामला शुरू होने से पहले अदालत के साथ संपार्श्विक जमा करने की आवश्यकता होती है,

तो अदालत एक निश्चित अवधि के लिए या जब तक धन या संपत्ति अदालत को नहीं दी जाती है, तब तक कार्यवाही रुकने का आदेश दे सकती है। यदि पक्ष संपार्श्विक जमा करने में विफल रहता है, तो अदालत अदालत की अवमानना ​​​​के लिए पार्टी का हवाला दे सकती है और जुर्माना या आदेश का आदेश दे सकती है।

एक अदालत कई कारणों से कार्यवाही पर रोक लगा सकती है। एक सामान्य कारण यह है कि कोई अन्य कार्रवाई चल रही है जो मामले या मामले में पक्षकारों के अधिकारों को प्रभावित कर सकती है। उदाहरण के लिए, मान लें कि एक प्रतिवादी एक ही वादी से दो अलग-अलग मामलों में बारीकी से संबंधित तथ्यों से जुड़े मुकदमों का सामना करता है। एक मामला संघीय अदालत में दायर किया जाता है, और दूसरा मामला राज्य अदालत में दायर किया जाता है। इस स्थिति में एक अदालत दूसरे अदालत के सम्मान में स्टे जारी कर सकती है। स्टे प्रतिवादी को एक समय में एक मामले पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम बनाता है।

स्टे लेने मे अपने वकील की जरूरत क्यों होती है

स्टे लेने के लिए  न्यायालय में सिविल न्यायाधीश के समक्ष एक वाद पत्र प्रस्तुत करना होता है जोकि वकील के माध्यम से ही न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत होता है जिसमें वकील द्वारा आप की ओर से न्यायालय के समक्ष पैरवी की जाती है या आपको स्टे भी दिलाता है इन सब कार्यों के लिए वकील का होना या वकील की जरूरत बहुत होती है

वकील एक ऐसा हो जो दीवानी मामलों में पारंगत हो या बहुत से दीवाने मामले उन्होंने जीते हो या सॉल्व किए हैं इस प्रकार के वकील आपके द्वारा करना उचित होता है इसलिए स्टे लेने के लिए या वाद पत्र प्रस्तुत करने के लिए वकील की अति आवश्यकता होती है वह अकेली एक ऐसा व्यक्ति होता है जो हमें मुकदमा जितवा सकता है एवं हमारी हर समस्याओं का समाधान करवा सकता है

न्यायालय के समक्ष हम जो बात कह नहीं सकते उन बातों को वकील द्वारा न्यायालय के समक्ष रखा जाता है जिसमें न्यायालय द्वारा आदेश दे दिया जाता है इस प्रकार वकील करना बहुत आवश्यक होता है और हर नए कार्य में वकील की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है

Mylegaladvice ब्लॉग पर आने के लिए यहाँ पे ब्लॉग पढ़ने के लिए मैं आपका तह दिल से अभारी रहूंगा और आप सभी साथीयो दोस्तो का मैं बहुत बहुत धन्यवाद करता हु इस ब्लॉग के संबंध मे आपका कोई ही सवाल है जिसका जवाब जानने के आप इछुक है तो आप कमेंट बॉक्स मैं मूझसे पुछ सकते है।।

 

144 thoughts on “what is a stay order स्टे ऑर्डर क्या होता है स्टे कैसे लिया जाता है 1 पूरी जानकारी”

  1. Sir aap ko mera namskar mera name Jagdish h ham aap se ye janana chahate h ki mera makan sarvajanik aabadi me h ham apana puarana makan girakar nsya nirman kararana chahate h aur aabadi ke bagal me kisi ka chakout number h kya vo aabadi par stay le sakta h

    Reply
    • सर हमारे पिताजी ने एक मकान हमे स्टाम्प पर बेचान कर दिया था हमने उसपर पट्टा बनवा लिया था क्या उस मकान पर अन्य भाई हिस्सा ले सकता है या नही या कोई कानूनी कार्यवाही करके हक ले सकता है क्या

      Reply
        • स्टाम्प में यह लिखा है की मकान के पूरे पैसे ले लिए है कोई बकाया नहीं है क्या एक बाप अपने बेटों को मकान बेच सकता है बेचकर पैसे ले सकता है अगर बाप ने मकान दोनो भाई के नाम बेच दिया हो तो तीसरा हिस्सा ले सकता है क्या

          Reply
          • Sir maine Faizabad कमिश्नर ke आदेश के विरुद्ध बोर्ड ऑफ रेवेन्यू से स्टे ऑर्डर लिया hai wa uski सुनवाई की date December me lagi hai ,jammen पर हमारा पूर्वज से कब्जा है हम खेती करते थे to kya अब हम खेती kar sakte hai ya nahi । विपक्षी नही करने दे रहे हैं pls sir मार्गदर्सन karaye

  2. Sir Namaskar
    Mere pass ek jameen h. Uski registration mera naam h. Jab bhi mai us par Nirman karta hu to mera padosi us par police ke dwara kaam rukwa data hai. Mai kya karu.??
    Kripya samadhan batata.
    Mars number
    7877466655 watsapp

    Reply
      • Sir ji Namaskar
        Mera nam varsha hai mai ek shikshak hu mera transfer jilese bahar kar diya hai,shikayat ke adhar par. Ispar stay kese la sakte hai

        Reply
          • श्रीमान सीएम साहब मेरा निज खातेदारी खेत टोंक जिले की टोडारायसिंह तहसील के ग्राम पंचायत खरेड़ा में हें इसके पास में बैरवा बस्ती आबादी है इन आबादी वालों के मकानों का रास्ता मुख्य बाजार की सीसी रोड़ पर है इनको ग्राम पंचायत द्वारा 30×50 के पट्टे भी जारी किये हुये हैं लेकीन ये लोग पीछे मेरे खेत की तरफ स्वायचक पर कब्जा कर रास्ता मांग रहे हैं श्रीमान यहा पर ना तो पूर्व में कोई रास्ता था और ना ही आज वर्तमान में कोई रास्ता है यह लोग एक साथ मिलकर मुझे वह मेरे परिवार वालों को धमकाते हैं डराते हैं और धमकी देते हैं कि हमें पीछे से रास्ता दे दो वरना हम तुम्हें वह तुम्हारे परिवार वालों को  मारेंगे एवं एससी एसटी एक्ट के तहत जेल भिजवा देंगे श्रीमान मैं और मेरा पूरा परिवार इस डर के माहौल में भयभीत हैं खेत में और कुएं पर जाने पर भी डर लगने लगा है श्रीमान यह टोंक जिला कलेक्टर से प्रार्थना पत्र पेश कर जबरन रास्ता की गुहार लगाते हैं जिला कलेक्टर महोदय के आदेश के अनुसार पटवारी जी एवं गिरदावर जी आ कर के मौका स्थिति को देख कर के उन्होंने रिपोर्ट तैयार करके भेज दी है

  3. Sir Mera ek khet ka vivaad hai Jo dusri party ne farzi vasiyat kar k apne naam Kara li this jiski jaankari hone par court me case kar Diya gaya lekin vo log abhi bhi khet par kabza kar rahe hai

    Reply
      • Sir Namaskar hamare ek ristydaar ne meri buya se 7biga 1bise Jameen ki registry Apne naam kar va li thi par jab hme is Baat Ka pta Chla hamne court se us Jameen Ka intkaal Ruk va Diya tha.fir Baad me Faisla huya tab us ristydaar ne Jameen mere papa ke naam kar ba di thi.jisme usne 6biga 3biswa Jameen bapise ki.aur baaki 18biswa Jameen usne Apne naam rkhi jiska rasta rkha. Par rajistry me bo rasta Saja likya gya tha.jisme Likha tha ki Dono party is rasty ko us karege aur kbi v is raste ko bad nhi karege.abi kush time phle usne APNI Jameen bech di jis Jameen ko bo rasta Lagta tha.aur ab bo is raste ko bech rha hai.jis party ko usne Apne Jameen sale ki hai.par vo rasta to hmari Jameen ko v Lagta hai. To sir isme hm court se stay le Sakta hai.

        Reply
  4. Sir good morning mera Makan meri jagah aavadi me he our me kareevan 20 salon Usme jhopdi dalkar rah rah hi lekin Aab hamane aapna Makan banva liya he mere 5 sal se mukadma chala lekin Aab love hamare khilaph karbahi karke mere Makan Ko turbans chahate aese me ham Kiya karte saheb

    Reply
  5. Good evening, sir मेरी बहन के ससुर ने पांच बीघा ज़मीन जीजा जी के मरने के बाद बहन को रजिस्ट्री कर दिया था. मेरे जीजा दो भाई हैं. (चुकीं जीजा के बड़े भाई ने अपने दादा से ज़मीन की रजिस्ट्री अपने नाम करवा लिया था). जीजा के बड़े भाई को पता चला तो उसने मुकद्दमा किया. फिर ADM court से खारिज दाखिल का मुकदमा बहन ने जीता और खारिज दाखिल भी हो गया. प्रतिपक्ष ने जिला कोर्ट में भी मुकद्दमा किया था रजिस्ट्री रद्द कराने के लिए. लेकिन जिला कोर्ट ने फैसला विपक्ष के पक्ष में रजिस्ट्री रद्द करने के लिए दिया . अब क्या किया जाये, क्या उपर के कोर्ट में पुनः मुकद्दमा किया जा सकता है, क्या निचले कोर्ट के आदेश को चुनौती दिया जा सकता है.

    Reply
  6. श्रीमान जी नमस्कार मेरी मार्केट में दुकान है वह दो मंजिल की बनी हुई है उसकी बैक साइड में किस किसी और की संपत्ति है और वह 4 मंजिला मकान बना रहा है उसने मेरी साइड विंडो रख दी है हमारी दोनों की दीवारें 4 इंच की अलग अलग अलग हैं उसने अपनी 4 इंच की दीवार में विंडो मेरी तरफ रख दी है क्या मैं कानूनी रूप से उसे रोक सकता हूं

    Reply
  7. Hello sir ,
    Mere ghar ka batwara abhi nhi hua
    Ye bahut badi property h aur isme bahut se hisshe dar bhi h.
    Mere papa ne uss property pr stay liya h jiske antargat na usse bechna ka dhikar h aur na banwane ka.
    Pr abhi kuch dino se hamara bathroom tut gya h aur koi jagah nhi h ki hum khi aur use kre …to kya hum usski maramat krwa skte h….plzzz reply sir ….. thank you in advance

    Reply
  8. मंदिर माफी जमीन राजस्व रिकॉर्ड ने हमारे नाम है लेकिन 1991 के तहत हमारा नाम उसने से हट गया लेकिन अब दूसरा पुजारी उस जमीन पर अपना हक जमा रहा है और मंदिर पर भी अपना हक जमा रहा है फिर उसको कोट जाकर उसने मंदिर वाली जमीन पर स्टे कुर्ग करवा दिया अब हम क्या करें हम हाई कोर्ट मैं अपील भी कर दिए हमारे साथ न्याय होगा क्या

    Reply
  9. सर नमस्कार
    सर क्या स्टे लगे हुए जमीन पर मकान बनवाने से जेल हो सकता है और हां तो कितने दिन की.

    Reply
  10. नमस्ते सर जी मेरे पिता जी के नाम देड़ बीघा जमीन जमीन नाम है जो की 2 नंबर में है जो की हमारे पडोसी के कब्जे में है में उस पर स्टे आर्डर लेना चाहता हु तो उस पर हमें किस तरह स्टे आर्डर मिल सकता है और कितना समय लग सकता है

    Reply
  11. Hello sir mera ek plot hai jo ke koi or us per apna haq bata raha hai or mai us par kaam kar raha hu woh mujeha stay ke dhamki de raha hai mera plot per kaam chalu ho chuka hai mera plot 40 into 50 hai jis per 5 feet deewal ban chuki hai or front ke deewal 8 feet 3 inch ban chuki hai ab mai yeah janna caahta hu ke kya ab bhi wah mere plot per stay laga sakta hai

    Reply
  12. Sir m gramin bank m denik vetan bhogi  peon k pad pr  2008 se kaam kr rha hu mujhe week m payment hota hai o 50 din m naam badal kr 01/08/2021 se paylesment k dwara payment  kya jayga bol rhe hai mere branch manager mujhe paylesment k dwara kaam nhi krna hai stay lagne k liye kya document lagega or stay kit din m lag jayega

    Reply
  13. Hello sir
    Mere upper jhuta posco Ka case LGA k FSA Di h or is case k wjh s mere upper non bailable warrant bill gya hh ab mujhe kya krna hoga jbki mere pas saboot v h ki m us time Delhi m tha or m Delhi Rh k hi padhayi krta hu mera carrier khrab krne k liye janbuz k jhuta case m FSA Di h Iska complain Maine nhrc or Patna bhrc m v Kiya but av tk kux v nhi hua or ulte mere upper hi warrent nikl gya mere Ghar p police wala AAA k kh rha h ki ladka ko hazir kro nhi to Ghar Tod denge kurki jbti kar denge sir ab mujhe kya krna hoga ..,.. plz kux advice dijiye

    Reply
  14. नमस्कार सर मेरा नाम राजेश कुमार है मेरे जमीन के बगल मै एक दूसरे आदमी का जमीन है वो अपने जमीन का पक्की पैमाईश करा कर गलत तरीके से मेरे जमीन में घुस रहा है और पुलिस और प्रशासन को पैसे देकर लेखपाल के द्वारा गलत माप करके हमारे जमीन में थाक लगा दिया जिसे हम लोगो ने उखाड़ कर फेक दिया अब वो उसी आधार पर जबरन दीवार बना रहा है और प्रशासन पैसे लेकर उसके साथ खड़ा है बोल रहे है हमे कब्जा दिलाने का आदेश है आप बाद में आपत्ति लगायेगे तो आपके हिसाब से हो जाएगा मै क्या कर सकता हूं उचित सलाह दे

    Reply
  15. Sir pranam ????
    Humare ghar per padosi duwara case kiya gya hai jo ki court me 3 4 saal se chal rha hai par abhi hum log apne ghar ke bathroom ko tod kr phir se banwa rhe hai jo ki jitne jagah ke liye case chal rha hai usse alag hai padosi ne police ke paas jaa ke complaint kiya ki vivadit zameen pr ye log kaam krwa rha hai badle me humlogo ne v thane me likh kr diya uske baad police ne bola ki padosi ko bulawa kr zameen ki naapi krwa lo or usko dikha do ki vivadit zameen se alag jagah pr bathroom ban rha hai humne padosi ko bulawa kr naapi krwa ke dikha diya par phir v padosi nhi maan rha aaj jb thane gye to police bol rhe hai ki 7,000rs do yaa agar kaam phir se chalu krwaya to 144 lga kr ghar khali karwa denge.

    Please ab btaiye humlog kya kare ???? help sir.
    Bathroom wagera todne ka kaam ho chuka hai kaam ruk gya hai ab.
    Kya SP ya DC ke paas jaa kr iska koi hal niklega ??

    Reply
  16. सर मेरे पिताजी के नाम से नेएटी वन जमीन है तीन रसीद भी है और सर पड़ोसी कब्जा कर के बैठा है जो जमीन में बोर भी करवादिया है जो विद्युत लेने वाला है कॉर्ट में केस भी सालू है तो स्टे मिल सकता हैं

    Reply
  17. श्री मान जी
    मेरा नाम भरत राम वर्मा है मेरे घर पर जाने के लिए 5फुट की गली चाहिए जिसमे जो जमीन है वो नम्बर है दो जन की
    एक ने 2.5फुट जमीन गली के लिए दिया है
    और दूसरा 2.5 फुट नहीं दे रहा है
    सर जी मै क्या करे जिससे हमें गली मिल जाए

    Reply
  18. सर
    मेरे पास एक जमीनी विवाद मेरे पक्ष मे कोर्ट से स्टे ऑर्डर 2017 से है मगर अब दूसरे पक्ष ने उस विवादित जमीन पर अवैध निर्माण कार्य करने के उद्देश्य से पुरानी ईटे तथा बजरपुट जमा कर दिया है । पुलिस से शिकायत के बाद भी यथास्थिति को नही लागू होने देना रहा है ।पुलिस भी कुछ मदद नही कर रही है शायद दूसरे पक्ष से मिल गई है ।अब आप ही बताइए कि हम पुलिस के ओर दूसरे पक्ष के खिलाफ क्या कार्यवाही कर सकते है ।कृपया मार्गदर्शन करे

    Reply
    • जिस कोर्ट से आपको स्टे मिला हुआ है उस कोर्ट मे प्राथना पत्र लगाओ ओर पुलिस को शिकायत करो । पुलिस अगर कुछ नहीं करती है तो पुलिस मे उच्च अधिकारी को शिकायत करो ज्यादा जानकारी के लिए अप हम से संपर्क कर सकते हो
      Email-mylegaladvice099@gmail.com

      Reply
  19. ????सर आप से मेरा सवाल है कि हमारे बड़े पिताजी हम लोग की जमीन दादा जी से अपने
    नाम करवा रखी है। और उसमे किसी का नाम
    नहीं डलवाया है।और सर उसी जमीन में हम लोग का घर बनवा दिए है और आज ओ अगला हम लोग को कह रहा है मेरा जमीन है तुम लोग खाली कर दो सर बताओ हम लोग
    कहा जाए
    सर जी
    क्या हम उसपे स्टे ले सकते है या और जानकारी दीजिए सर बहुत कृपा होगी ।

    Reply
      • सर मेरी जमींन के तीन भाइयो का बटवारा है जिसमे एक भाई एक जगह रोड पे है और वह बटवारा नहीं चाह रहा है हम लोगो को पीछे की तरफ जमींन दिया है और हर जगह सही है मै कोर्ट में बटवारा दाखिल किया हु क्या बटवारे के बाद स्टे ले सकता है बड़ा भाई उस जमींन पे क्योकि मै बटवारे के लिए सिर्फ एक गाटा का अपील किया हु उसका कहना है बटवारा हर जगह का हो जब की हर जगह जमींन सही बाटा गया है और ये सब गाटा एक ही खतौनी नंबर में है कृपया मदद करे

        Reply
  20. Sir good afternoon mai ye puchna chahti hu mmera ak ghar h mummy ke name h jo ki unka persanl h mere papa ji ni h ak bhai h wo ldta h or mummy ne ghar mere name kr diya h daan mai rejistri ki h ab btae isme bhai kuch kr to ni skta age

    Reply
  21. Sir mere khet se hokar ek chakroad hai jo thoda sa diversion hai lekin map mai straight hai ,lekin dusre khet wala use straight karna chahata hai us par stay order mil sakta hai please reply sir

    Reply
  22. सर,
    जमीन मेरे नाम थी मैंने उसे बेच दिया। जिसने खरिदा उसके नाम से खारिज दाखिल भी हो गया।अब एक वर्ष पश्चात जमीन मालिक उस पर निमार्ण कार्य कर रहा था । पुलिस द्वारा यह कह कर रोक दिया गया कि ये विवादित हैं।। मैं यह जानना चाहता हु कि खारिज दाखिल होने के एक वर्ष पश्चात स्टे कैसे लिया जा सकता हैं।।।

    Reply
  23. Sir namaste Mera khat ak Colone ke aander aa Gaya hi bildor kabjaana chahtahi court case bhe Kar Diya hi saphata Nahi mil rahi Kiya Karna chahi ya batay mara mo. Namber8279320839 ha

    Reply
  24. sir humara stay court ki side se khariz kardiya gya he mamla meri mother ke swargiya
    father ke ghr ka he joki meri mother ke brother ne meri nani se vasiyat karwane ke bad bech diya jiski abhi tak registry nahi hui or humne unn par civil dawa pesh kiya he magar court ne humara dawa swikar kar liya parantu humko court ne stay nahi diya he ye mamla abhi gav ki court me he tho hum kha se stay lekr ayye jisse case khtam hone tak humko bhvan ki registry par stay mil jaye humre dawe ke sath jo yachika humne dayar ki thi court me stay ki vo kharij ho chuki he…he ab hum kya kar sakte he

    Reply
  25. Hlo sir mera name radheshyam meena hai me army me hu hm log 4bhai 1bhan hai mere father 2 bhai hai mere father ne apni marji se jmeen ka jyada hissa mere chacha ko de dia jabki hmare pass jameen kam hai kya karu plz ya fir aapka mujhe contact number mil jae so plz help me????

    Reply
  26. Hello sir Ram Ram ji mera name Ravi Singh s/o shivlakh Singh hai
    Mere pita or more tau ke bich aak navay tehsildar sirsaganj firozabad me gam ki jamin ke mamle me aak mukadama chal raha hai mujh ko sala do ki ME kya karu

    Reply
  27. सर मै दिल्ली मै dda flats मै रहता हु मेरे साथ वाले फ्लैट मालिक अपना फ्लैट बना रहा है उसने पहले हमारे घर का back साइड हिस्सा कवर कर लिया था जिसकी मैंने पुलिस मै शिकायत दर्ज की तो उसने दिवार तोड़ दी अब वो हमारे back साइड की तरफ अपने टॉयलेट की खिड़की लगा रहा है अपनी ही दिवार पर मेरी दिवार पर मंदिर का रोशन दान बना है क्या वो खिड़की बना सकता है वहा pls मदत करें

    Reply
  28. Sir ham yse nahi bata payenge sir hmare pass kar do sir 8433302755 sir ham log bahut paresan hi hmara ghar kisi ne este kar diya hi sir call me

    Reply
  29. सर जी नमस्कार मेरे मां बाप की मृत्यु हो चुकी है खेतों की जमीने दो प्रकार की है नीचे की जमीन ए अच्छी हैं मेरे दो भाई नीचे की जमीनों पर कब्जा करना चाहते हैं मुझे धमकाते भी हैं मेरी बेइज्जती भी करते हैं और जबरदस्ती कब्जा करने की बात करते हैं सर जी इसके लिए मुझे क्या करना होगा

    Reply
  30. हमारी पुस्तेनी खेत है,जिसमें सुरुवात से हमारे ही लोगो का नाम आते जा रहा है,हमारे पटीदार लोग आज उस खेत पे स्टे लेने की कोशिश कर रहे है,जिन खेतों में मांग कर रहे है उसमे हम आधा ही दखल है,बाकी का वो लोग जबर्जस्ती जोत रहे है,खेती वे स्वयं नहीं कर रहे अधिया पे दिया हुआ है।वे हमारी संपत्ति पे अपना दावा कर रहे पर अपनी सपत्ती पे हमारा हिस्सा नहीं है बोल रहे है।अगर वो लोग हमारी संप्पती पे अपना दावा बता रहे तो क्या हम उनकी संपत्ति पे दावा कर के मुकदमा कर सकते है।
    क्या हम उनके द्वारा बताई जमीन पे जिसपर वे लोग स्टे ले रहे है उसमे हम भी कुछ जमीन के नंबर स्टे पे ले सकते है

    Reply
  31. sir mera name Dildar Khan he Sir me Viklang hu. or mujheHigh Court Jodhpur ke Nokri Joining ke Order mile huye he. But Sandip Kumar Jo ki Samanya OBC ka banda he usne 2018 ka is joining order pa Stay Lagva rakha he. Sir Pichle 4 saal se mere is case me hearing nahi ho pa rahi he. Please Help me

    Reply
  32. Hello sir
    Mai ek plot liya delar se aur us delar ko pura Paisa de chuka aur mere plot ka kam shuru ho chuka tha sirf chath dalna baki tha tabhi jamindar aya aur mera kam rukwa diya aur bola ki delar ne pure paise mujhe nahi diya tum kam nahi karsakte plot p is bat ko 6 months hochuka mere plot ki rajistry bhi hai original mere nam ka hai to mai us ko kya Kru

    Reply
  33. Sir ji mera ghr pe case chal raha hai ham jab ghar liye us samay plot no or khata no glat dal diya gya registration office ke dawara Or vo aadmi mar gya jo likha tha but ham us ghr ko kabja kar 40 sal se hai Or uska bhatija case kiya 40 sal se case chal raha hai iska kaise thik ho sakta hai

    Reply
  34. सर जी 75 साल से हमारे आजा देवलाल के नाम से जमीन चला आ रहा है जो राजस्व रिकॉर्ड में आज भी हमारे पिताजी लोगों का नाम रहा इसके बाद हमारा नाम आ गया है परंतु एक व्यक्ति के द्वारा हमारा पुराना जमीन है कह कर के और केस दायर किया जिसमें तहसीलदार व्यवहार न्यायाधीश से हार गया परंतु प्रथम न्यायाधीश डीजे कोर्ट से केस जीत गया है और जबरन नामंत्रण करवा रहा है जबकि हमारे द्वारा हाई कोर्ट जबलपुर मैं इस हेतु आवेदन दिया जा चुका है स्टे प्राप्त नहीं हुआ है और नामांतरण के लिए तहसील से नोटिस आ रही है इस समस्या का समाधान बताएं ताकि नामांतरण रुकवाया जा सके।

    Reply
  35. Sir,
    Hamari joint property hai 3000 sq ft. Jo 3 brother ke paas hai.us me se ek nirman karye karna chahta hai. Us par stay lane ke liye kitna time lagega aur kya process hai.
    Sale deed me 3 brothers ke naam hai aur ferfar main bhi

    Reply
  36. Sir mere husband Ka logistics Ka business h ab unki Corona se death ho gyi h,aur unke Bhai meri Bina permission k mere husband ki gaadio ko logistics k business m use kr rhe aur uska paisa Apni Jeb m rkh the h, kya main us stay order bhej skti hu…

    Reply
  37. Sir
    Stay property par kya owner lock laga sakta hai ..agar kisi aur na us par lock laga kar jabran rah raha ho toh … nd car park ho sakti hai kisi ki stay order porperty par

    Reply
    • मकान का मालिक तो ताला लगा ही सकता है स्टे अगर संपति पर है तो बेचान एवं निर्माण पर होगा मेरे अनुसार

      Reply
  38. Sir ek question h , maine ipc 498, ipc 494 f.i.r darj hui january 2021 me , ab tak police ne koi karwayi nhi ki , jisse aropi paksh ne highcourt me ye keh kar stay le liya ki police ne ab tak chargsheet dakhil nhi kiya to court ne stay laga diya h ..Ab mai kya karu
    Isme to police ki galti h unhone mamla ki karwayi nhi ki ab bataye mai kya karu
    Police wale bolte hai ki tum highcourt jao ..Hume stay mila hai hum kuch nhi kar sakte plz reply

    Reply
  39. Sir maine f.i.r ki thi january 2021me,ipc 498,ipc 494, police ne koi karwayi nhi ki , iska fayda uthate hue september 2021 takriban 9 month bad aropi ne highcourt se ye kehte hue ki police ne ab tak chargsheet nhi pesh nhi ki , stay le liya hai
    Police walo se maine pucha to bolte h ki hum chargsheet court me pesh nhi kar sakte kyuki stay mila hai , highcourt jao tum
    Ab btao sir kya karu mai plz email id pr jawab do

    Reply
      • Sir procedure pr stay liya hai bina highcourt order ke police bhi chargsheet pesh nhi kar sakti court me ,

        Aropi ne highcourt me dalil di ki ab tak chargsheet pesh nhi hui court me to ispe stay laga do

        Reply
      • Chek ki thi to aisa likha hua bata raha plz bataye aage kya karna hoga

        Issue notice to the non-applicants.
        3. Mr. V.A. Thakare, learned Additional Public
        Prosecutor waives service on behalf of non-applicant/
        State.
        3. Notice to non-applicant no.2, returnable after three
        weeks.
        4. It is the submission of the learned counsel for the
        applicants that as on today, the charge-sheet is not filed.
        Her statement is accepted.
        5. Though, the Investigating Officer may continue
        with the investigation, he he shall not file the charge-sheet
        qua the applicants without leave of the Court.

        Reply
  40. Sir mera ek news channel h jisko mere sath k employee kaam krke I’d pasword change krke uspe adhikar kar liye h maine court m case kiya lekin faisla unhi k side m aaya to kya m us channel p stay le skti hu ??

    Reply
      • Maine apne city k court m appel ki thi sare document ppr sab mere naam hi h lekin phir v report dusre side walo k favour m ho gya court n kh diya ki apke document complete nhi h aur mujhe santusti nhi mili h apke document s ab second side wale channel operate kar rhe to m chahti hu ek baar phir s janch ho aur jb tk janch ho rha mere channel p stay lag jaye kya asa ho skta h??plz suggest me right way

        Reply
  41. Sir , mera ek plot he 150 warg gaj, jis ka registery 2000 ka he , ustime uske teeno taraf awasaiy zameen thi ek side ŕoad,, bad me us ki paschim disha me ek chakroad nikala diay jisse mere plot ki registery me side ki tabdili agayi, is tabdili ka fayada uthakr kuch bhoo mafia logo ne ek false registery 2010 me krali , or agle 3 dino me usne kisi nya ko registery krdi, pata lagte hi humne wad dayar kiya jisme 2013 me court ne hme stay order diya or kabij or dakhil paya, 2021 me session courte ne false prtiwadi ki registry cancel ki jise regiser ne sunya niskriya krara diaya, yaha pata lgte hi prati wadi ne police se milkr or side ka map dikha kr police milkr usper nirmarh kr liya he , hme local police ne support nhi kra , sp city complaint kri hmne waha se sho ko forward hui jise koi nateeja nhi mila , KESE KABJA MIKE ,KYA KARYAWAHI KI JAYE ,DHARASAYI K ORDER KESE MILYE , bataye krapa.hogi dhanyawad

    Reply
  42. Hello sir ,
    KDA s order aaye h makan k ek hise ko girane k court s stay kitne din m mil jata h mere pass 4 din k hu time bcha h ab bus plz guide kare

    Reply
  43. मेरे ससुर की जमीन है उस पर उनके बड़े भाई जबरदस्ती मकान बनाना चाह रहे हैं कोर्ट से स्टे कितने दिन में और कितने खर्चे में मिल जाएगा और इसके अगर मिल गया उसके बाद फिर क्या करेंगे

    Reply
  44. sir mera chota bhai dimangi rup se presan hai our uski 1 ldki hai wo bhi dimangi rup se kmzor hai sir mere bde bhai our uske ldke ne us ke mkan pr kbza kr rakha hai ab bahi ka ldka uski dukan ko tod kr apni dukan me milana chata hai kya mai dukan ko todne se rok skta hu or mughe kya krna pdega kanuni salh de

    Reply
  45. Sir hum 2 bhai hain or jameen baba ki mtlb paitrik or hmre papa ne hmre dusre bhai ko sabka bainama kr diyaa pr abhi dhakhil khariz nhi hua kya krna chahiye.?

    Reply
  46. Sir mera selection juniour salesmen me hua tha jiska varification fabruary me hua and march 2021 me duty joining bhi mil gaya ab fir se november me varification me apatra kah kar duty se nikal diye 8month kam kara kar kya karu sir.

    Reply
  47. Sir.me Gram Pradhan hu.meri Gram Panchayat me Gram samaz ki zamin h .jo ki us zamin me ek mahila ko 2 sal pahle janwar badhne ke liye zamin de diya gya tha. Ab vo pakka nirman karwa rhi h mna karne me chhed chhad ka arop lga rhi h.kya Gram samaz ke zamin ka stay order mil sakta h .aur kese milega koi rasta bataye.
    Thanks

    Reply
  48. Hlo dear sir…..
    Sir family court ne 3year k bete ki custody mko de di….. Ab wo party appeal m chle gye isss order k against kya aise m wo stay le skte h court ne ten days ka time diya ta unko kal unke days complete ho jaye ge but baby nhi diya sir mko abhi tk …. Nd wo h.c m chle gye order k against to sir plz btaiye baby case m bi h.c stay de skti h kya

    Reply
  49. Plz sir reply…. Nd my request to other respected members…. Plzzz if you hv any authentic information plzzz share with me…. What to do in this situation

    Reply
  50. Good evening sir
    Sir hmare jmin pr hmare chacha ne jbrn ghar bna liya hai jis jmin pe phat ka mukadma chal raha hai to is condison me hm kya kre

    Reply
  51. Sir namaskar mera name jeetu h mera bhai plot lilya jiski kimat 6.5 lakh h usme maine apne name ki check 2.5 lakh ki lagaya ab vo mera hissa nahi de raha to ispe koi kanuni karwaai ho sakti hai kya please jawaab dena sir

    Reply
  52. Sir namaskar
    Mere dada ji do bhai the dono logo ka makan abadi me bana hai chote dada jo the unki 3 aulad thi bade dada ki koi aulaad nahi thi aur bade dada ke expir ho jane ke baad badi dadi ne meri maa ke. Naam apni sari chal achal sampatti ki registered washiyat kar di thi ab meri jo badi mummy hai unhone usme hisse ke liye case file kiya hua hai kya unhe usme hissa milega ; ya usme unka hissa banta hai kya

    Reply
    • Sir namaskar
      Mere dada ji do bhai the dono logo ka makan abadi me bana hai chote dada jo the unki 3 aulad thi bade dada ki koi aulaad nahi thi aur bade dada ke expir ho jane ke baad badi dadi ne meri maa ke. Naam apni sari chal achal sampatti ki registered washiyat kar di thi ab meri jo badi mummy hai unhone usme hisse ke liye case file kiya hua hai kya unhe usme hissa milega ; ya usme unka hissa banta hai kya help me sir

      Reply
  53. सर मैने धारा 251क के अंतर्गत रास्ता लिया है लेकिन विपक्ष वालो ने उस पर सिविल कोर्ट में अपील कर रखी है तो अब क्या रास्ता वापस बंद थोड़े हो सकता हैं लेकिन रास्ता नक्शे में निकल गया है और अभी वर्तमान में चालू हालत में है कोई सुझाव दीजिए

    Reply
  54. Sir
    Ek zameen ka sauda mere dwara kiya gaya tha
    Kareeb 55% payment de chuke h
    Agreement base pr samne wale aadmi par 420,406 ka case lag chuka h
    Ab mujhe us zameen pr stay lena h
    Kya krna hoga
    Kya stamp duty bhi jama krna hogi
    Please help me

    Reply
  55. Sir hum jis ghr me rhete h uss pr stay lga hua ha toh kya hum apne ghr me koi family function kr skte ha
    Kya isme koi action ho skta ha

    Reply
  56. सर, गांव मे हमारी आबादी वाली जमीन पर कब्जा करने के इरादे से किसी ने हमारी जमीन मे चोरी चोरी नल और बाथरूम बना लिया। हमने पूछा की ऐसा क्यों किया तो बोला जब कहोगे हटा लूंगा फिर हमने अपनी जमीन की बाउंड्री करवाई उस व्यक्ति ने बाउंड्री का विरोध किया पर हमने बोला की आपको नल से पानी लेने मे असुविधा नहीं होगी। बाउंड्री तो हो गई पर उसका नल और बाथरूम कैसे हटवाया जाए । कृप्या कोई उचित सुझाव दे आप

    Reply
  57. Sir, मेरे पुश्तैनी कृषि भूमि से लग सड़क भूमि जो हमारा एक मात्र रास्ता है उस सड़क पर गोठान बनाया गया है। जिससे हमारा शासकीय सड़क मार्ग बंद हो गया है । प्रशासन से निवेदन किया कोई कारवाही नही की है ।नगर पालिका खरसिया va प्रशासन खुद माफियागिरी में लगा है क्या करू।

    Reply

Leave a Comment